Mesothelima

अन्तर्वासना की हॉट हिंदी सेक्स कहानियाँ Hot indian xxx hindi nonveg antarvasna kamukta desi sexy chudai kahaniya daily new stories with pics images, Hot sex story, Hindi Sexy stories, XXX story, Antarvasna, Sex story with Indian Sex Photos

Monday, April 20, 2020

चालू माँ की सेक्सी जवान बेटी

चालू माँ की सेक्सी जवान बेटी

उसकी बेटी 19 साल की हो चुकी थी. तो माँ ने गैर मर्दों को घर ने लाना बंद कर दिया. लेकिन माँ का असर बेटी में आया और वो भी थोड़ी आवारा सी थी. बेटी की चुदाई कैसे हुई?

सेजल अब 45 साल की हो गई थी उसकी बड़ी लड़की 19 साल की हो चुकी थी. सेजल के घर में अभी गैर मर्द आते थे जब उनकी बेटियां घर पर नहीं होती थी और वह सेजल का सेवन करते थे. लेकिन सेजल अब समझ गई थी कि अब गैर मर्द अगर घर पर आएंगे और लड़कियां बड़ी हो रही है तो उन पर एक गलत प्रभाव जाएगा.

और यहीं से गोसानी परिवार का पतन चालू होता है.

ससुर से चुदाई करवा के बेटा पैदा किया
जैसा कि मैंने आपको अपनी सेक्सी कहानी के पिछले भाग

में बताया था कि सेजल अब यह सब काम छोड़ना चाहती थी, यह सब काम से मेरा मतलब है कि पराए लोगों को घर में बुलाना और अपने जिस्म का इस्तेमाल कर के ऊपर जाना. क्योंकि ऑलरेडी सेजल के पास बहुत सारे पैसे थे जिसकी वजह से वह घमंडी हो चुकी थी और यह घमंड उसके बच्चों में भी आ गया था.

इन्हीं पैसों को वह ब्याज में देकर अपना घर चलाती थी. सेजल का बर्ताव अब किसी रंडी खाना चलाने वाली औरत जैसा हो गया था, वह अपनी बच्चियों की हर हरकत पर नजर रखती थी क्योंकि उनको डर था जो काम सेजल ने किया है वह उनके बच्चे ना करें.

भूमिका जो कि 19 साल की थी वह देखने में एकदम अपनी मां की तरह लगती थी. उसको देखकर सेजल को अपना बचपन याद आ जाता था. भूमिका की हरकतें भी अपनी मां जैसी ही थी वह भी थोड़ी सी आवारा थी. लेकिन घमंडी होने की वजह से ज्यादातर लोग उसके आसपास नहीं आते थे. हालांकि भूमिका एक बार अपने मामा के लड़के से चुद चुकी थी. लेकिन उस वक्त वह सेक्स से बिल्कुल अनजान थी.

लेकिन अब उसे सेक्स के बारे में बहुत सारी चीजें मालूम थी, वो अपने कमरे में बैठकर गंदी किताबें पढ़ती थी और अपनी चूत के अंदर उंगली करती थी, उस पूरे इलाके में ऐसा कोई भी लड़का नहीं था जो भूमिका को पसंद था या उसके लायक था.

अब मैं आपको इस कहानी के करैक्टर से मिलाता हूं उसका नाम गुरकीरत सिंह है, सब लोग प्यार से उसको गुरी बोलते हैं, तो इस स्टोरी में भी उसका नाम गुरी ही रखते हैं. वह भी पंजाब से आया था इस इलाके में काम करने के लिए।

वह सेजल का दूर का रिश्तेदार लगता था लेकिन सेजल ने बिल्कुल भी रिश्तेदारी ना निभाते हुए उसको पैसे दिए 3 परसेंट महीने के ब्याज पर. गुरी ने अपना काम शुरू किया लेकिन थोड़े वक्त बाद ही उसे वह काम बंद करना पड़ गया. वह मदद के बाद एक बार फिर सेजल के पास गया लेकिन सेजल ने उसको बहुत सुनाया और उसे बोला कि चुपचाप उसके पैसे वापस करें वरना बहुत बुरा हश्र होगा.

लेकिन जिस इंसान के पास पैसे ही ना हो वह क्या कर सकता है, उसने बोला कि उसके पास पैसे नहीं है और वह पैसे वापस करने के औकात में नहीं है.
इस पर सेजल ने उसको एक ऑफर दिया और यह बोला कि वह सेजल के साथ 2 साल के लिए काम करें वह भी मुफ्त में।

इसमें कोई बुराई नहीं थी क्योंकि सेजल के साथ अगर रहता तो बाकी लोगों से जान पहचान बनती और पैसे अपने आप निकल आते हैं. जिसकी वजह से गुरी ने इस काम के लिए हां कर दी, दूसरी वजह यह भी है कि वह भूमिका से प्यार करता था।

खैर धीमे-धीमे सेजल सारे साथियों से दूर होती चली गई और अंत में सिर्फ गुरी ही बचा। गुरी ही सेजल के पैसों की वसूली करता था और उसका सारा काम देखता था। लेकिन 2 साल के बाद भी सेजल गुरी के साथ कुत्तों जैसा व्यवहार करती थी।
गुरी को इससे कुछ ज्यादा की उम्मीद थी, ऊपर से गुरी भूमिका से प्यार करता था और भूमिका गुरी को घास तक नहीं डालती थी।

एक दिन जब होली का त्यौहार था गुरी शराब पीकर सेजल के घर पर पहुंचा. सेजल अपनी बच्चों को लेकर कहीं और गई थी किसी रिश्तेदार के वहां! घर पर सिर्फ भूमिका थी.

गुरी ने गेट खटखटाया. भूमिका के घर क्योंकि गुरी का रोज का आना जाना था इसलिए भूमिका ने दरवाजा खोल दिया. गुरी जो कि शराब के नशे में बिल्कुल लुप्त था, उसने आव देखा ना ताव उसने भूमिका को रंग लगाना शुरू किया.

जब गुरी ने देखा कि भूमिका चिल्ला रही है और अंदर से कोई भी नहीं आ रहा … तो उसको यह समझने में ज्यादा देर नहीं लगी कि घर पर कोई भी नहीं है.

लेकिन गुरी दिल का बुरा इंसान नहीं था, वह भूमिका से सच्चा प्यार करता था. इसलिए उसने भूमिका को भांग का लड्डू जबरदस्ती खिला दिया. वह चाहता तो भूमिका का मुंह बंद कर करके वहीं पर कुछ कर सकता था.

लड्डू खाने के 15 मिनट बाद भूमिका का सर चकराने लगा और अब गुरी को यह बात समझ में आ गई. उसने भूमिका को अपने गोद में उठाया और भूमिका के बेडरूम में ले गया.

भूमिका ने टॉप और जींस पहन रखी थी. गुरी ने पहले तो भूमिका के टॉप्स को उतारा उसके अंदर उसने देखा की भूमिका ने ब्लैक कलर की ब्रा पहन रखी है.
19 साल की उम्र में ही भूमिका के बूब्स काफी ज्यादा बड़े थे.

अब गुरी ने भूमिका की ब्रा को भी उतार कर साइड में फेंक दिया और उसके बूब्स को अपने दोनों हाथों से दबाने लगा. भूमिका को कुछ समझ में नहीं आ रहा था लेकिन उसको मजा बहुत ज्यादा आ रहा था और वह सी सी की आवाजें कर रही थी.

वो भी अपने दोनों हाथों से भूमिका के बूब्स को दबा रहा था और भूमिका को गर्दन पर किस कर रहा था. भूमिका भी अब पागल हो रही थी और वह अपनी चूत की तरफ अपने हाथ को ले गई. जैसे ही गुरी ने देखा कि भूमिका अपनी चूत में उंगली कर रही है, उसने अपना एक हाथ भूमिका की चूत में लगाया और अपने मुंह से उसको किस करने लगा.
और दूसरे हाथ से भूमिका के बूब्स को दबाने लगा.

गुरी अपनी एक उंगली को भूमिका की चूत के अंदर अंदर बाहर कर रहा था. भूमिका को बहुत मजा आ रहा था और वह अपना पैर गुरी की गांड पर मार रही थी.

गुरी करीब 15 मिनट तक भूमिका को किस करता रहा और उसकी चूत के अंदर उंगली करता रहा. इन सब चीजों के बीच में भूमिका दो बार झड़ चुकी थी. गुरी बहुत माहिर खिलाड़ी था उसने कई लड़कियों को चोदा था तो वह जानता था कि क्या करने से लड़कियां गर्म हो जाती हैं.

भूमिका ने जो लड्डू खाया था अब उसका नशा उसके पूरे सर पर घूम रहा था.

अब गुरी ने अपना लंड भूमिका के मुंह के पास रखा और उसने भूमिका के मुंह में अपना लंड दे दिया. भूमिका ने बड़े ही प्रोफेशनल तरीके से उसके लंड को चूसना शुरू किया. भूमिका ने उसके टोपे को पीछे किया जिससे गुरी के लंड का अगला हिस्सा नंगा हो गया.

भूमिका ने अपनी जीभ से गुरी के टोपे को चाटना शुरू किया. अब उसके गुलाबी से मासूम होंठ गुरी के लंड के ऊपरी भाग को चूस रहे थे. भूमिका अपनी जीभ से लंड के छेद को छेद रही थी.

उस वक्त भूमिका को देखकर यह नहीं बोला जा सकता था कि उसने कभी भी चुदाई ना करवाई हो. बिल्कुल किसी प्रोफेशनल रंडी की तरह गुरी का लंड चूस रही थी.

गुरी खड़ा हुआ और भूमिका अपने घुटनों पर थी. अब गुरी ने भूमिका के मुंह में अपना लंड घुसा दिया. भूमिका उसके लंड को अपने मुंह के अंदर बाहर कर रही थी और उसके अंडों को दबा रही थी.
अब गुरी ने भूमिका का लंड अपने दोनों हाथों से पकड़ा और गुरी लंड को उसके मुंह के अंदर बहुत तेजी से अंदर बाहर करने लगा.

1 मिनट तक गुरी ऐसे ही करता रहा और भूमिका उसको दूर कर रही थी. लेकिन गुरी ने भूमिका के मुंह के अंदर ही अपना माल झाड़ दिया.

बहुत देर तक भूमिका खांसती रही और तब तक गुरी ने अपनी जीभ उसकी चूत पर लगा दी थी. अब गुरी की जीभ भूमिका की चूत के दीवारों को छानबीन कर रही थी.

जो भूमिका अब तक खांस खांस के परेशान थी, अब अपनी चूत में गुरी की जीभ महसूस करके एकदम मजा लेने लगी. अब गुरी ने अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल दी और अपनी एक उंगली से चूत के दाने को मसलने लगा.

अब गुरी ने भूमिका को दो बार झाड़ दिया था. अब वह लंड लेने के लिए एकदम मचल रही थी. अब गुरी ने बिल्कुल वक्त ना लगाते हुए भूमिका को अपने आंड को समाने किया. भूमिका ने बड़े मजे से उसके आंड को चूसा.

अब गुरी खुद ही घोड़ी बन गया और भूमिका को उसकी गांड चाटने के लिए बोला. भूमिका ने वह भी बड़े अच्छे से किया.

अब गुरी ने भूमिका को मिशनरी पोजीशन में किया. भूमिका के कमर के नीचे एक तकिया लगाया और उसकी दोनों टांगों को अपने हाथों में ऊपर की ओर उठा दिया. अब गुरी ने अपना लंड दिखाया जो करीब 9 इंच का होगा.

उसने भूमिका की चूत पर अपना लंड को सेट किया और बहुत हल्के से अंदर किया. लंड का ऊपरी भाग भूमिका की चूत में गया और भूमिका दर्द के मारे पागल हो गई. भूमिका की शक्ल रोने वाली हो गई और वह हटो हटो करने लगी.

गुरी उसको किस करके थोड़ी देर शांत किया और अपना कमर को हिलाना जारी रखा. अब धीमे-धीमे भूमिका की चूत के अंदर आधा लंड घुस चुका था. लंड की रगड़ पाकर भूमिका की चूत में गर्मी और ज्यादा बढ़ने लगी और वह खुद ही गुरी की गांड को अपनी ओर खींचने लगी.

यह ग्रीन सिगनल था कि भूमिका अब तगड़े झटकों के लिए तैयार है. अब गुरी ने अपनी कमर की रफ्तार को धीमे धीमे बढ़ाना चालू किया.
धीमे धीमे ऐसा करते ही अब गुरी का काफी हद तक लंड भूमिका के अंदर जा रहा था. हर धक्के के साथ भूमिका की चीख निकल रही थी.

अब तो गुरी एकदम पागलों की तरह स्पीड में आ गया था. उसने भूमिका को धड़ाधड़ चोदना चालू किया. भूमिका की हालात एकदम रोने जैसी हो गई थी लेकिन गुरी ने उसको बिल्कुल भी नहीं बख्शा.

थोड़ी देर बाद गुरी ने भूमिका को घोड़ी बनने के लिए बोला. भूमिका बन भी गई. अब उसने सीधा एक ही झटके के अंदर पूरा लंड भूमिका के अंदर डाल दिया.
भूमिका अपने सीने के बल गिर गई और उसकी गांड गुरी की तरफ उभर के आ गयी थी। गुरी ने अपने दोनों हाथ से भूमिका की गांड पकड़ी और बहुत तेजी से भूमिका की चूत को चोदने लगा

भूमिका के मुंह से सिर्फ चीखें निकल रही थी और गुरी अपनी कमर को किसी गोली की तरह बहुत तेजी से अंदर बाहर कर रहा था. बुलेट ट्रेन की रफ्तार में गुरी भूमिका को चोदता चला गया

थोड़ी देर बाद फिर उसने भूमिका को नई पोजीशन में किया. अब भूमिका उसके ऊपर थी और वह नीचे लेटा हुआ था, उसने हॉर्स राइडिंग पोजीशन के अंदर भूमिका को 10 मिनट तक चोदा और अपना माल उसके अंदर ही डाल दिया.

इतने में दरवाजे पर किसी की आहट हुई अब जूरी जल्दी से अपने कपड़े पहनने लगा. बाहर जब उसने झांका तो उसको पता चला कि सेजल घर वापस आ चुकी थी. और भूमिका अभी भी भांग के नशे में थी.

अब वो करता तो क्या करता … भूमिका ने ही दरवाजा खोला और अभी भी वो नंगी ही थी.
उसकी हालत देख के सेजल को समझ आ गया कि क्या हुआ है। उसने भूमिका को दो चार थप्पड़ लगा दिए।

लेकिन क्योंकि भूमिका की अभी तक चुदाई पूरी नहीं हुई थी और वो भंग के नशे में थी इसलिए वो अपनी माँ को वापस चांटा मारा और वहाँ से भाग गयी गुरी के साथ।
गुरी अपने दोस्त के साथ ही आया था बाइक पे!

अब गुरी बाइक चला रहा था और भूमिका बीच में थी. उसका दोस्त भूमिका के चूत में उंगली कर कर रहा था और उसके बूब्स को दबा रहा था।

वो लोग गुरी के कमरे में पहुँचे, जहाँ भूमिका को गुरी और उसके कई दोस्तों ने चोदा क्योंकि भूमिका को होश नहीं था। असल में कितने लोग थे ये नहीं पता।

भूमिका माँ के पास वापस आ गयी और माँ के साथ ही रहने लगी। लेकिन उस दिन के बाद सेजल की इज्जत इलाके में कम हो गयी।

तो मित्रो, कैसे लगी आपको मेरी सेक्स स्टोरी? बतायें मुझे!

No comments:

Post a Comment